Monthly Archives: January 2014

गणतंत्र दिवस पर रघुवीर सहाय की कविता

अधिनायक राष्ट्रगीत में भला कौन वह भारत-भाग्य-विधाता है फटा सुथन्ना पहने जिसका गुन हरचरना गाता है। मखमल टमटम बल्लम तुरही पगड़ी छत्र चंवर के साथ तोप छुड़ाकर ढोल बजाकर जय-जय कौन कराता है। पूरब-पश्चिम से आते हैं नंगे-बूचे नरकंकाल सिंहासन … Continue reading

Posted in General | Leave a comment