The Revolution Will Not Be Televised

The_Revolution_will_not_be_Televised

अप्रैल 2002 में 2 दिन के लिए शावेज को सत्ता से बेदखल कर दिया गया था। जाहिर है यह षडयत्रं अमरीका ने ही रचा था। लेकिन जाहिर है वह इसमें कामयाब नही हो पाया। इसका कारण था वेनेजुएला में शावेज की लोकप्रियता और व्यापक जन समर्थन। इस लोकप्रियता और जन समर्थन का कारण था – शावेज की अमरीका विरोधी नीतिया और जन कल्याणकारी योजनाए।
इसी विषय पर 2003 में एक महत्वपूर्ण डाक्युमेन्टरी फिल्म बनी थी – The Revolution Will Not Be Televised. इसे आइरिश फिल्म डायरेक्टर Kim Bartley और Donnacha Ó Briain ने निर्देशित की थी। शावेज पर एक फिल्म बनाने के उद्देश्य से वे दोनों उन दिनों वेनेजुएला में थे। उसी समय यह घटना घटी। और फिल्म निर्देशको को इस महत्वपूर्ण एतिहासिक घटनाक्रम को ‘आन स्पाट शूट’ करने का मौका मिल गया।
पैलेस और सड़कों पर हिंसा और संघर्षो के दृश्य वास्तविक है। बाद में आम जनता और राजनीतिक विश्लेषकों से साक्षात्कार द्वारा फिल्म में इस तख्ता पलट की साजिश बेनकाब हो जाती है। और इसमे अमरीकी भूमिका भी पूरी तरह उजागर हो जाती है। अमरीकी समर्थन से बनी बिजनेसमैन पेडरो कारमोने की अन्तरिम सरकार 2 दिन में ही ध्वस्त कर दी गयी। यह वहां की जनता की बड़ी साम्राज्यवाद विरोधी जीत थी। इसमे निश्चित रुप से शावेज के कुशल नेतृत्व की एक बड़ी भूमिका थी।
आज जब हयूगो शावेज नही रहे तो यह फिल्म हमे वेनेजुएला के आन्दोलन को समझने में काफी मदद कर सकती है।

This entry was posted in General. Bookmark the permalink.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *