Daily Archives: 2017/01/06

जहां प्रतिरोध जीने का सलीक़ा है….

कई दिनो से एक किताब मेरे सिरहाने खामोश (?) पड़ी थी… पढ़े जाने का इन्तज़ार करते हुए… न जाने क्यों मेरी हिम्मत नहीं पड़ रही थी उस किताब को पढ़ने की….पता नहीं क्यों मुझे लगता कि मेरे कलेजे की तरह … Continue reading

Posted in General | Leave a comment